स्नेहा खानवलकर की दिलचस्प यात्रा

वह एक लड़की थी, स्कूलबस के लम्बे सफ़र में चेहरा बाहर निकालकर गाती हुई, रंगीला का कोई गाना और इस तरह उस संगीत की धुन पर कोर्स की कविताएं याद […]

Read Article →

सिनेमा क्या है?

  भारतीय सिनेमा के दादा साहेब फ़ाल्के उर्फ़ धुंदी राज गोविंद फ़ाल्के  के जीवन मे फ़िल्म निर्माण से जुडा रचनात्मक मोड सन 1910 ‘लाईफ़ आफ़ क्राईस्ट’ फ़िल्म को देखने के बाद […]

Read Article →

फिल्म डिवीजन की मणि कौल को श्रधांजलि

    मणि कौल की पहली पुण्यतिथि(6 जुलाई) पर फिल्म डिवीजन फिल्मकार के ऊपर एक विशेष कार्यक्रम आयोजित कर रहा है । यह आयोजन 6 से 7 जुलाई को महाननगर […]

Read Article →

फिल्हाल सईद मिर्जा

  दिलनवाज हिन्दी सामानांतर सिनेमा में अस्सी का दशक फिल्मकार ‘सईद मिर्जा’ की ओजस्वी फिल्मों का दौर था, इन फिल्मों में भारतीय मध्यम वर्ग संघर्षों की संवेदनशील पडताल मिलती है […]

Read Article →

प्रोजेक्ट सिनेमा सिटी

     दिलनवाज   भारतीय सिनेमा के सौंवे वर्ष में दाखिल होने अवसर पर राष्ट्रीय आधुनिक कला दीर्घा, मुंबई ने ‘प्रोजेक्ट सिनेमा सिटी’ तहत प्रदर्शनी का आयोजन किया है । […]

Read Article →

हुसैन साहेब पर छायाचित्र प्रदर्शनी

      मक़बूल साहेब की पेंटिंग कला-प्रेमियों पर अमिट छाप छोड गई हैं,लेकिन कम ही लोग उनके ‘छायाकारो के सहज’ व्यक्तित्व को जानते हैं । वह कैमरा के समक्ष […]

Read Article →

100 वर्ष का भारतीय सिनेमा

हाल ही में भारतीय सिनेमा स्थापना के सौवें वर्ष में दाखिल हुआ है… वहां सभी आए…चाहे अमीर हो या गरीब…बंबई ने इस ऐतिहासिक घटना का दिल से स्वागत किया ।  […]

Read Article →